Friday, April 12, 2024
HomeUncategorized7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता अब होगा शून्य, बदलेगा...

7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता अब होगा शून्य, बदलेगा कैलकुलेशन

7th Pay Commission: केंद्रीय सरकार के कर्मचारियों (Central government employees) को मिलने वाला महंगाई भत्ता 50 प्रतिशत बढ़ गया है। हालांकि, अब यह सवाल उठ रहा है कि 50 प्रतिशत महंगाई भत्ते पर इसे शून्य करने का समय आ गया है। लेकिन, यह कब होगा और कैसे होगा, इसका मर्जर तय करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। चलिए, इस विषय पर अधिक जानकारी प्राप्त करें।

Central government employees news: केंद्रीय कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ते (Dearness Allowance) का इंतजार अंत हो गया है क्योंकि गुरुवार को केंद्रीय कैबिनेट ने महंगाई भत्ते में 4 फीसदी की बढ़ोतरी को मंजूरी दे दी है। केंद्र सरकार के कर्मचारियों के महंगाई भत्ते को अब 50 प्रतिशत बढ़ा दिया गया है, इससे उन्हें फायदा होगा। लेकिन, इस बढ़ोतरी के बाद यह सवाल उठ रहा है कि क्या यह भत्ता शून्य किया जाएगा, और यह कब होगा और कैसे? सरकार इस पर कब ऐलान करेगी या नोटिफिकेशन जारी करेगी, इसकी जानकारी अभी तक नहीं मिली है।

7th Pay Commission -शून्य के आगे से ही शुरू होगी गणना

2024 में, केंद्रीय कर्मचारियों के डीए (DA) की गणना में बदलाव की संभावना है। 1 जनवरी से लागू होने वाले महंगाई भत्ते की नई गणना का एलान किया गया है। कर्मचारियों को 50 फीसदी DA का लाभ मिलेगा। जनवरी 2024 से, केंद्रीय कर्मचारियों को महंगाई भत्ता 50 फीसदी के अनुसार मिलेगा। नियमों के अनुसार, 50 फीसदी महंगाई भत्ते के बाद इसे बेसिक सैलरी में मर्ज किया जाएगा और इसकी गणना शून्य से शुरू होगी। हालांकि, सरकार अभी तक इस पर कोई स्पष्टीकरण नहीं दी है। इसका मतलब है कि महंगाई भत्ते की कैलकुलेशन 50 फीसदी से आगे ही जारी रहेगी। लेकिन, शून्य पर कब आएगा, यह अभी तक अविश्वसनीय है।

E Shram Card New Payment List 2024: ई श्रम कार्ड का नया लिस्ट जारी, यहाँ से चेक करें

CTET Exam Update: सीटेट की परीक्षा को लेकर उम्मीदवारों के लिए खुशखबरी यहाँ से देखे डिटेल

7th Pay Commission -कब से बदलेगा महंगाई भत्ते का गणित?

Pay Commission: 2016 में सरकार ने 7वां वेतन आयोग की घोषणा की थी, जिसमें महंगाई भत्ते को शून्य करने का निर्णय था। नियमों के अनुसार, यदि महंगाई भत्ता 50 फीसदी तक बढ़ जाता है, तो वह शून्य किया जाएगा और बचे हुए 50 फीसदी का राशि को बेसिक सैलरी में जोड़ा जाएगा। अगर किसी कर्मचारी की बेसिक सैलरी 18000 रुपए है, तो उसे 50 फीसदी DA के रूप में 9000 रुपए मिलेंगे। हालांकि, यदि महंगाई भत्ता 50 फीसदी तक बढ़ जाता है, तो फिर से उसे शून्य कर दिया जाएगा। इसके परिणामस्वरूप, उसकी बेसिक सैलरी का पुनर्निर्धारण होगा और यह 27,000 रुपए हो जाएगी। यहां तक ​​कि सरकार को फिटमेंट में बदलाव करना भी संभव है।

NEET Exam Update: लाखों छात्रों ने किया आवेदन, परीक्षा होने वाली है काफी मुश्किल चेक करें पूरी जानकारी

WPL 2024 Updated Points Table: दिल्ली कैपिटल्स ने किया प्लेऑफ का टिकट हासिल, आखिरी स्पॉट के लिए रोमांचक हुई जंग

क्यों शून्य किया जाएगा महंगाई भत्ता?

  • नए वेतनमान के लागू होने पर, कर्मचारियों को मिलने वाले DA को मूल वेतन में जोड़ा जाता है। इसका मतलब है कि उनकी वेतन में एक बढ़ोतरी होती है।
  • कर्मचारियों को मिलने वाले DA का मूल वेतन में जोड़ना कानूनी होता है, लेकिन कई बार इसे नहीं किया जाता।
  • वित्तीय स्थिति के कारण, इस निर्णय को लागू करना मुश्किल होता है। अक्सर समय-समय पर सरकार इसे नहीं कर पाती है।
  • साल 2016 में एक ऐसा उदाहरण है, जब सरकार ने डीए को मूल वेतन में जोड़ा।
  • वहाँ से पहले, 2006 में, छठे वेतनमान के साथ 187 प्रतिशत DA मिल रहा था।
  • उस समय पूरा डीए मूल वेतन में मर्ज किया जाता था।
  • इस तरह, छठे वेतनमान का गुणांक 1.87 था।
  • साथ ही, नया वेतन बैंड और नया ग्रेड वेतन भी बनाया गया था।
  • लेकिन इसे लागू करने में तीन साल का समय लगा।
  • ऐसा नहीं होना चाहिए, क्योंकि यह कर्मचारियों के हित में है।

DA Rates Table Update: खुशखबरी-खुशखबरी इतनी ज्यादा मिलेगी सैलरी, यहाँ देखें नया DA चार्ट

TMC Candidates List 2024: ममता ने चुने 42 उम्मीदवार, 26 नए चेहरे, नुसरत जहां आउट, यूसुफ पठान इन, पढ़ें पूरी लिस्ट

अब कब शून्य होगा महंगाई भत्ता?

  • विशेषज्ञों के अनुसार, नए महंगाई भत्ते का निर्धारण जुलाई माह में होगा।
  • सरकार वार्षिक रूप में महंगाई भत्ता को केवल दो बार बढ़ाती है।
  • मंजूरी दी गई है कि मार्च में जनवरी के लिए महंगाई भत्ता मिलेगा।
  • अगला रिवाइजन जुलाई 2024 से प्रभावी होगा, इससे पहले महंगाई भत्ता मिलेगा।
  • इससे पहले, जून 2024 तक का AICPI इंडेक्स देखा जाएगा।
  • आधारित, महंगाई भत्ता का निर्धारण 3% या 4% हो सकता है।
  • उत्तराधिकारियों के लिए, बेसिक सैलरी में 50% महंगाई भत्ता जोड़ा जाएगा।
  • सामग्री स्पष्ट करने के बाद, कर्मचारियों के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।
  • यह निर्णय स्वीकार्य है कि नए महंगाई भत्ते को जुलाई में लागू किया जाएगा।
  • अंतिम निर्णय में, कर्मचारियों की आर्थिक स्थिति को ध्यान में रखा जाएगा।

WPL 2024: मुंबई ने गुजरात को हराकर प्लेऑफ के लिए किया क्वालिफाई, यह टीम हुई बाहर, जानें अंक तालिका का हाल

DA Arrear: होली के ठीक पहले कर्मचारी और पेंशनभोगियों की भर गयी झोली, कैबिनेट से हो गई धनवर्षा।

सरकार पर बढ़ता है वित्तीय बोझ

2006 में छठे वेतन आयोग के समय नए वेतनमान को 1 जनवरी 2006 से लागू किया गया था, लेकिन इसकी अधिसूचना 24 मार्च 2009 को जारी की गई थी। इस देरी के कारण सरकार ने 39 से 42 महीनों के डीए एरियर को तीन भुगतानों में वित्तीय वर्षों 2008-09, 2009-10 और 2010-11 में भुगतान किया। नए पे स्केल का निर्माण भी किया गया। पांचवें वेतनमान में 8000-13500 वाले वेतनमान में 8000 पर 186 प्रतिशत DA 14500 रुपये होता था। इसलिए, इन दोनों को जोड़कर कुल वेतन 22,880 हुआ।

छठे वेतनमान में इसका समकक्ष वेतनमान 15600-39100 प्लस 5400 ग्रेड पे निर्धारित किया गया। छठे वेतनमान में यह वेतन 15600-5400 प्लस 21000 और उस पर 1 जनवरी 2009 को 16 प्रतिशत डीए 2226 जोड़कर कुल वेतन 23,226 रुपये तय किया गया। चौथे वेतन आयोग की सिफारिशें 1986 में, पांचवें की 1996 में, और छठे की 2006 में लागू हुईं। सातवें कमीशन की सिफारिशें जनवरी 2016 में लागू हुईं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular